मरीजों की जिंदगी बचाने को आगे आई दादरी की सीएमए सीजीएम लाॅजिस्टिक पार्क कंपनी

एमएमजी अस्पताल को लगभग 4.50 लाख रूपये कीमत की डोनेट की ड्रीमस्टेशन बिपप मशीन

गाजियाबाद: दादरी की सीएमए सीजीएम लाॅजिस्टिक पार्क कंपनी जिला एमएमजी अस्पताल के मरीजों की जिंदगी बचाने के लिए आगे आई है। कंपनी ने अपने सीएसआर प्रोजेक्ट के तहत एमएमजी अस्पताल में सीएमएस डाॅ.अनुराग भार्गव को ड्रीमस्टेशन बिपप मशीन डोनेट की। जिनकी कीमत लगभग 4.50 लाख रूपये है। रोटरी क्लब ऑफ इंदिरापुरम गैलोर के चार्टर प्रेसीडेंट डाॅ.धीरज कुमार भार्गव ने कंपनी से एमएमजी अस्पताल के लिए बिपप मशीन डोनेट करने का अनुरोध किया था। जिसको कंपनी के सीईओ कैप्टन वीएम भावा व सीएफओ लक्ष्मी ने स्वीकार कर लिया। एमएमजी अस्पताल के सीएमएस डाॅ.अनुराग भार्गव ने बताया कि इन मशीनों से अस्पताल में भर्ती मरीजों को काफी फायदा मिलेगा।

सीएमए सीजीएम कंपनी के सीईओ कैप्टन वीएम भावा, सीएफओ लक्ष्मी, आईटी मैनेजर रतनदीप सिंह, वेयरहाउस मैनेजर मोहित व रोटरी क्लब ऑफ इंदिरापुरम गैलोर के चार्टर प्रेसीडेंट डाॅ.धीरज कुमार भार्गव, अपूर्व राज बृहस्पतिवार सुबह करीब 11 बजे जिला एमएमजी अस्पताल गाजियाबाद पहुंचे। एमएमजी अस्पताल में सीएमएस डाॅ.अनुराग भार्गव को करीब 4.50 लाख रूपये कीमत की ड्रीमस्टेशन बिपप मशीन डोनेट की।

कैप्टन वीएम भावा ने बताया कि बिपप मशीन एक मास्क के माध्यम से एक व्यक्ति के श्वसन पथ में दबाव वाली हवा पहुंचाती है। यह मशीन सांस लेने और सांस छोड़ने पर दबाव की निगरानी करती हैं। यह सांस लेने के लिए मरीजों की क्षमता और सांस लेने से संबंधित किसी भी निरंतरता की जांच करती है, दबाव बढ़ाकर और सोते समय व्यक्ति को सांस लेने के लिए मजबूर करती है। अधिकांश विशेषज्ञ उन रोगियों के लिए बिपप मशीनों की सलाह देते हैं, जो अपने आप सांस लेने में असमर्थ हैं क्योंकि मशीन उनके रक्त में अधिक ऑक्सीजन प्राप्त करने में मदद करती है। यह उन लोगों के लिए एक नियमित उपचार के रूप में भी सिफारिश की जाती है जिनके पास एपनिया की गंभीर समस्याएं हैं।

डाॅ.धीरज भार्गव ने बताया कि एमएमजी अस्पताल में कोविड-19 संक्रमित मरीज व ओपीडी में भी श्वास से संबंधित मरीज काफी संख्या में पहुंच रहे है। इनके लिए यह मशीन काफी फायदेमंद रहेगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Resolute Health Awareness Mission